यूनाइटेड स्टेट्स के इंडिआना में छोटा माइकल शाम की चाय के साथ टीवी शो देख रहा था जिसमे जेम्स ब्राउन का विडियो सॉन्ग “आई फील गुड” आ रहा था, माइकल का मन जेम्स ब्राउन के करंट जैसे थिरकते पैर का डांस देखकर गदगद हो रहा था, माइकल मन ही मन सोच रहा था के काश मैं भी कभी इसी तरह डांस कर पाऊंगा| उन दिनों छोटा माइकल स्कूल में ही पढता था| पिता एक गिटार वादक थे पर परिवार के भरण पोषण के लिए एक कोयले की खदान में क्रेन ऑपरेटर का काम करते थे|

छोटी उम्र में ही परिवार की आजीविका के लिए नन्हा माइकल और अपने भाइयो टीटो, जर्मेन, जैकी और मार्लोन के साथ गाने निकल पड़ा और आर्केस्ट्रा, स्टेज परफॉरमेंस पर पांचो भाई गाने के परफॉरमेंस किया करते थे, जिसमे मुख्य गायक माइकल रहते थे, धीरे धीरे उन भाइयो को मोटाउन परफॉरमेंस का कॉन्ट्रैक्ट हासिल हुआ और वे “जेक्सनस फाइव” कहलाये| बाद में चल कर किशोर माइकल जैक्सन खुद अकेले ही परफॉरमेंस करने लगे और बाकी भाइयो की तुलना में माइकल ही पॉप म्यूजिक में आगे बढे, और उन्होंने 1982 में थ्रिलर विडियो एल्बम किया जिसमे वे गाते और डांस करते हुए दिखे, उस एल्बम ने माइकल को दिन ढलने से पहले सुपर स्टार और पॉप जगत का बादशाह बना दिया, थ्रिलर आज तक की सबसे ज़्यादा बिकने वाली म्यूजिक एल्बम है|

माइकल ने डांस को एक अपने ही तरीके से ढाल दिया, जिसमे वो अपने प्रेरणा स्रोत रहे जेम्स ब्राउन के पैर मूवमेंट के डांस स्टेप को करते करते न जाने कितने स्टेप बनाते चले गए, पर पैरो के मूवमेंट के लिए अब तक वो जेम्स ब्राउन को अपने से ऊपर मानते रहे, और 2003 केलिफोर्निया के बैट अवार्ड्स में दोनों दिग्गजो ने स्टेज शेयर किया|

माइकल का जीवन हमेशा उतार चढ़ाव से भरा रहा, जिसमे एक दौर हुआ जब उनका दिख जाना ही फैंस में कहर ढा देता था, इसका अंदाज़ा आप इस बात से ही लगा सकते हैं की उनका शो किसी फुटबॉल स्टेडियम जितनी बड़ी जगह में होता था या फुटबॉल स्टेडियम में ही होता था और जब तक उनका शो चलता था तो 10-12 एम्बुलेंस हमेशा तैयार रखी जाती थी खासकर उन लड़कियों के लिए जो उनके एक एक अगले डांस स्टेप की मूवमेंट के रोमांच को संभाल नहीं पाती थीं और बेहोश हो हो कर गिरती रहती थी| खासकर उस इकलौते स्टेप पर जब शुरू में माइकल स्टेज के गहराई में से एक दम उछल कर बाहर आ निकलते थे और बहुत देर जमे खड़े रहने के बाद अपना चश्मा उतार फेंक एक लॉकिंग पॉपिंग स्टेप कर देते थे|

माइकल ने इंसानी जज़्बात को बखूबी समझा था और बड़ी बारीकी से किसी भी चीज़ को भव्य बनाने का गुर उन्होंने खूब समझा था वरना एक पतला सा लड़का जिसकी बॉडी में न एक एब्स और न ही कोई मसल्स थी, उसके आगे अच्छे से अच्छे सुपरस्टार पानी कम लगते थे| उसने लोगो के मन के अंदर पड़ी हुई भव्यता को बड़ी ही होशियारी से समझा था और समाज के हर मुद्दे को अपनी लिरिक्स में खींचा था न ही सिर्फ लिरिक्स में बल्कि समाज की हर बुराई पर हमेशा माइकल के अंदर एक आक्रामकता थी, और गायकी में वो हमेशा दिखती थी, जैसे की “जैम” “डेंजरस” “ब्लैक और व्हाइट” और “अर्थ” म्यूजिक एल्बम में दिखता है| और उसी गुस्से की आग को उन्होंने अपने डांस स्टेप में बदला था, जिस वजह से उनके गाने और डांस हमेशा जन मानस के मन को कनेक्ट करते थे, तभी तो उनकी सभी एल्बम में से आजतक सिर्फ एक एल्बम “इन्विंसिबल” फ्लॉप हुई है|

चलो माइकल के इस एट्टीट्यूड से ये तो पता चलता है की सुपरस्टार और महान बनने का रास्ता हमेशा खुला रहता है चाहे फिर कितने ही बड़े सुपरस्टार रास्ते में क्यों न हों| बस सिर्फ लोगो से जुड़े मुद्दों को छुओ, लोग रातो रात सर आँखों पर बिठा देते हैं, चाहे फिर माइकल हो या अपने केजरीवाल|

अच्छा पाठको……………बाय,

LEAVE A REPLY